‌‌ नव निर्माण

                        देश का आम आदमी,  कभी खास नहीं बन पाता । यदि नव निर्माण का विचार, उसके दिल में न आता । आज हर क्षेत्र में,  पुरुषों के बराबर,  महिलाओं का जो नाम है, शायद इसी अनुभूति का सुंदर परिणाम है। जिनका सफर रहा, चौके से लेकर चंद्रयान । आज पाकर अपना मुकाम, छू रही…